• आज मेरे टीचर ने स्कूल में सबके सामने मुझे जलील किया सिर्फ इसलिए कि छः महीने से मेरी स्कूल फीस जमा नहीं हो पाई ...
  • ‘आज इतनी सुबह से ही कौन आ गया?’सोचते हुए मैंने दरवाजा खोला। ‘अरे अवनि तुम….इतनी सुबह से…सब ठीक तो है न…?’ ‘बस ऐसे ही….आज ...
  • अभिना तो बस अपनी सपनों की दुनियाँ में खोई हुई है।उसकी नजरों में ‘कोर्टशिप पीरियड’का मतलब है सिर्फ मौज-मस्ती। पर निकित! वह अपनी आने ...
  • मम्मा बचाओ….मम्मा बचाओ….अरे, यह तो रिदम की आवाज है,अंशुमी किचिन का काम छोड़कर बाहर की ओर भागी। रिदम….रिदम…कहां हो तुम,चिल्लाते हुए वह मेनगेट की ...
  • आज बड़ी उदास लग रही हो?आफिस से आकर सोफे पर बैठते हुए आत्मिक ने समीहा को टोका। “मेरे साथ कितना बड़ा धोखा हुआ है”समीहा ...
  • कुछ दिनों से सत्कार एक अजीब सी परेशानी महसूस कर रहे थे।काफी दिन हो चले थे पर उनका बुखार उतरने का नाम ही नहीं ...
  • चहक को मैंने पहली बार उस समय देखा था जब मैं सर्वे के लिए उसके गाँव गया था। मुझे देखते ही वह बड़े अदब ...
  • इस तेज रफ्तार जिंदगी से आओ, फुर्सत के कुछ पल चुराएं कुछ तुम अपनी कहो कुछ हम अपनी सुनाएं। इस दौड़-धूप भरी जिंदगी में ...
  • दिल के दरवाजे पर बैठी हूं प्यार का आँचल मैं फैलाकर डरती हूं कहीं लौट न जाए दिल की चौखट पर तू आकर । ...
  •              बचपन की यादें भूल नहीं पाता है दिल बचपन की यादों में खोकर सुकून बहुत पाता है दिल ।चाँद ...