• जब भी मैं मिसेज खन्ना के घर जाती हूं उनके बच्चे अक्सर टीवी देखते मिलते हैं!स्कूल से आकर जैसे-तैसे यूनिफॉर्म चेंज करते हैं और ...
  • अनूठी को आज तक अफसोस है अपने बचपन को बचपन की तरह न जी पाने का!इस दुनियाँ में हर इंसान परिस्थतियों का गुलाम होता ...
  • “ए का कर रहा है तू….कहां था इतने दिनों से” खेत में हल जोत रहे हरिया की पीठ पर हाथ रखकर बोली बसंती। बसंती ...
  • मेरी परीक्षायें समाप्त हो चुकी हैं!अब जैसे-जैसे रिजल्ट आने का समय करीब आता जा रहा है मेरे दिल की धड़कन बढ़ती जा रही है!इतनी ...
  • अरे आरोही!तू यहां….?अपनी फास्ट फ्रेंड आरोही को पूना की एक फाइव स्टार होटल में अचानक देखकर राहा बोली! हाँ यार!तुझे पता है मुझे भी ...
  • शादी के 5 साल बाद भी बिरहा मां नहीं बन पाई बस इसी बात की चिंता उसे खाए जा रही है। सासू मां अक्सर ...
  • साहिल सुबह उठकर न्यूजपेपर पढ़ने बैठ गए!अनामि चुपचाप उनके टेबिल पर चाय रखकर चली गई! “सराहा,शीर्ष नाश्ता नहीं करना क्या?ये आजकल के बच्चे भी ...
  • डियर विभोर आप कैसे हैं? इन दो सालों में आपने मेरे साथ जो किया है उससे तो मैं अनुमान लगा सकती हूं कि आप ...
  • आज मेरे टीचर ने स्कूल में सबके सामने मुझे जलील किया सिर्फ इसलिए कि छः महीने से मेरी स्कूल फीस जमा नहीं हो पाई ...
  • ‘आज इतनी सुबह से ही कौन आ गया?’सोचते हुए मैंने दरवाजा खोला। ‘अरे अवनि तुम….इतनी सुबह से…सब ठीक तो है न…?’ ‘बस ऐसे ही….आज ...