• शक खड़ी कर देता है इंसानों के बीच नफरत की एक दीवार शक बड़ा देता है रिश्तों में दूरियां शक पैदा कर देता है ...
  • जो कुछ तुम्हें मिला है क्यों उससे संतुष्ट नहीं हो तुम…! जो नहीं मिला क्यों उसे पाना चाहते हो…! जो कभी नहीं मिल सकता ...
  • कितने दुखी हो तुम इस जिंदगी से जैसे जिंदगी कोई सजा हो तुम्हारे लिए शायद इसलिए कि तुम्हें सिर्फ सुखों की चाहत है दुखों ...
  • दिल में आस और मन में आत्मविश्वास लिए तुम मंजिल की ओर बढ़े चले जा रहे हो तुम्हारी निगाहें सिर्फ मंजिल की ओर हैं ...
  • एक छोटे से दुख से हार मानकर तुम जिंदगी जीना छोड़ दोगे- – -? थोड़ा सा कुछ खोने पर कितनी शिकायत है तुम्हें जिंदगी ...
  • वक्त अपनी रफ्तार से चल रहा है तुम चलो न चलो पर तुम्हें रुकना नहीं है जीवन पथ पर निरंतर आगे बढ़ते जाना है ...
  • एक नजर देखा जो तुमने दिल के अरमां मचल गए मुरझा गए थे हंसी ख्वाब जो दिल के फूलों से खिलकर संवर गए फिर ...
  • गर जीवन से तुम न घबराओ मन में आत्मविश्वास जगाओ मेहनत को अपना धर्म बनाओ जीवन की इस कठिन डगर पर साहस से अपने ...
  • तुम मेरे पास नहीं हो फिर भी हो दिल के पास बहुत पास- – – – कुदरत की हर सें में महसूस करती हूं ...
  • आप पढ़े -लिखे जरूर हैं तनिक पर आपकी सोच बहुत छोटी है। आप अपने रहन -सहन ,पहनावे से आधुनिक होने का दिखावा करते हैं ...